Delhi Government leverages high-tech and photo electoral rolls to crack down on bogus voting in Delhi Gurudwara Elections

·  Directorate of Gurudwara Elections initiates proceedings to ensure photo electoral rolls in DSGMC elections.

·  Government to ensure proper voter verification and stop bogus voting.

·  Tender for photo electoral to be floated on 31st August 2015; process completion by 2nd March 2016.

·  Delhi Government takes proactive move one year in advance to ensure elections are conducted in a free and fair manner.

New Delhi: 28/08/2015

Delhi Government Minister for Gurudwara Elections Mr. Kapil Mishra took a forward looking and proactive step in ensuring that Delhi’s Gurudwara elections are conducted in a free and fair manner. This was done by finalizing the process and methodology of creating photo electoral rolls for each and every voter who would vote in the elections held to the Delhi Sikh Gurudwara Management Committee (DSGMC).

The Directorate of Gurdwara Elections was established in the year 1974 by an Act of Parliament called the Delhi Sikh Gurdwara Act, 1971 and rules made there under mainly to conduct the election of 46-members from the general public and 9 members by way of Co-option to the DSGMC for a period of 4 years. The next general elections are likely to be held in the month of February, 2017.

Mr. Mishra said, “It was brought to the notice of the Delhi Government that there is a huge trend of making bogus votes for DSGMC elections by corrupt candidates and parties by getting their employees enrolled as voters whereas these temporary residents of Delhi and they often don’t even have a voter id issued by the election commission of Delhi. The bogus voters are a great injustice to honest and deserving candidates of the Gurdwara elections.”

An online tender to ensure photo electoral rolls has been finalized and will be floated on 31st August 2015. Scanning of photograph from electoral forms, merging of scanned photo and preparing soft copy and printing of merged draft rolls will take place by November-end. Printing and publication of photo electoral rolls will be completed by 2nd March 2016, almost one year before the next Gurudwara elections.

This marks another feather in the cap of the Delhi Government as it integrates the usage of technology for good governance.

***

Maurya/

Hindi release

·         गुरूद्वारा चुनाव मंत्री श्री कपिल मिश्रा ने की गुरूद्वारा चुनाव कार्यालय की तैयारियों की समीक्षा

·         फरवरी 2017 में होने वाले सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के चुनावों की तैयारियां शुरू

·         मतदाता पहचान पत्र का उचित स्तयापान हो-कपिल मिश्रा

·         निष्पक्ष और निर्भिक मतदान के लिए श्री मिश्रा ने दिए निर्देश

·         चुनावों की सभी तैयारियां होगी 2 मार्च 2016 तक पूरी-कपिल मिश्रा

नई दिल्लीः 28 अगस्त 2015

सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के लिए होने वाले आगामी चुनावों की तैयारियों का जायजा लेते हुए दिल्ली के गुरुद्वारा चुनाव मंत्री श्री कपिल मिश्रा ने आज गुरूद्वारा चुनाव कार्यालय को आदेश दिए कि इन चुनावों के लिए प्रत्येक मतदाता को फोटो मतदाता पहचान पत्र मुहैया कराया जाए। उन्होंने कहा कि इन चुनावों के लिए ऐसा माहौल बनाए कि मतदाता निर्भिक और निष्पक्ष होकर इन चुनावों में बढचढ कर भाग ले सके।

गुरूद्वारा चुनाव निदेशालय की स्थापना संसदीय अधिनियम 1971 के तहत 1974 में की गई थी। इसका मुख्य कार्य सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के लिए सदस्यों का चुनाव कराना है। इसके अंतर्गत 46 सदस्यों का निर्वाचन आम जनता के बीच से किया जाता है जबकि 9 सदस्यों को वैक्लिपिक आधार पर चुना जाता है। इसके सदस्यों को 4 वर्षों के लिए चुना जाता है। सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के सदस्यों के लिए चुनाव फरवरी 2017 में होने की संभावना है।

गुरूद्वारा चुनाव मंत्री श्री कपिल मिश्रा ने कहा कि दिल्ली सरकार की जानकारी में आया है कि इन चुनावों में भ्रष्ट पार्टियों और प्रत्याशियों द्वारा अनुचित लाभ के लिए फर्जी मतदाता पहचान पत्र जारी करते हैं। इन प्रत्याशियों द्वारा ऐसे लोगों को फर्जी मतदाता पहचान जारी किया जाता है जिन्हें दिल्ली निर्वाचन आयोग द्वारा दिल्ली का मतदाता पहचान पत्र जारी नहीं किया गया हो। इस तरह की अभिवृत्ति न केवल उन योग्य प्रत्याशियों के मनोबल को तोड़ती हैं जो उचित माध्यम से चुनाव लड़ रहे है बल्कि यह देश के भविष्य को भी अंधकार की तरफ ले जाती है।

फोटो मतदाता पहचान पत्र जारी करने के कार्य को तेज करने के लिए निविदा को 31 अगस्त 2015 तक आॅनलाईन अपलोड कर दिया जाएगा। मतदाता पहचान पत्र पर फोटो स्कैनिंग आदि का काम इस वर्ष नवंबर तक पूरा कर लिया जाएगा। फोटो मतदाता सूची को प्रकाशित करने का काम 2 मार्च 2016 तक पूरा करने के आदेश दिए गये हैं। चुनावों में किसी भी अप्रिय घटना से उचित तरीके से निपटने के लिए इन सभी कामों कों चनावों से लगभग एक वर्ष पूर्व ही पूरा कर लिया जा रहा है। यह बात दिल्ली के गुरूद्वारा चुनाव मंत्री श्री कपिल मिश्रा ने कही।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s