Delhi Jal Board Vice Chairman Raghav Chadha issues instructions to issue show-cause notice to contractor for delay in completion of construction of 12.4 ML capacity UGR/BPS at Mayapuri #DelhiGovernance #AAPatWork

*DELHI JAL BOARD*

*GOVT. OF NCT OF DELHI*

****

*Delhi Jal Board Vice Chairman Raghav Chadha visits the construction site  of 12.4 ML capacity UGR/BPS at Mayapuri to take stock*

*Delhi Jal Board Vice Chairman gives instructions to issue show-cause notice to contractor for delay in completion of construction of 12.4 ML capacity UGR/BPS at Mayapuri*

*The total cost of the project is approximately Rs 14 crores and was expected to complete in 18 months i.e by June 2019, but delayed by over 14 months and counting*

*Delhi Jal Board Vice Chairman Raghav Chadha says delay in work is not acceptable, laxity will be punished and those erring officials and contractors will face the music*

New Delhi:  *11th August 2020*

Honble VC: DJB, Sh. Raghav Chadha along Hari Nagar Vidhan Sabha MLA Rajkumari Dhillon and with senior officers & officials visited the project site today early morning i.e 11th August, 2020 to inspect the progress of the construction of UGR/BPS in Mayapuri, West Delhi which was expected to complete in 18 months, but is delayed by over 14 months and counting. The Under Ground Reservoir at Mayapuri was inaugurated in 2018 to keep pace with the growing water demands of the area and ensure proper equitable and supply to all. 

Shri Raghav Chadha, VC: DJB expressed disappointment over the non-completion of the project, pulled up the officers as the slow pace of the project is affecting water needs of the residents of parts of Subhash Nagar, Hari Nagar, Maya Enclave, M – Block, Khazan Basti, A-Block, Mayapuri Ph I & II etc. The awarded cost of the project is approximately Rs.14 cr. 

Reprimanding the contractor for delaying the project by over 14 months, Shri Raghav Chadha said “Show cause notice is issued to the concerned contractor as delay in completion of the project and laxity in work is posing a problem for residents of the command area. The contractor has failed to fulfil his contractual obligation of completing the UGR construction within 18 months, that is by June 2019. Such unprofessional conduct and laxity will not be tolerated. An undertaking of detailed timelines with regard to the completion of this work be also sought from the contractor, apart from invoking contractual liability for failing to conclude the work in the agreed time frame.” He further said that this would come across as an example for all the contractors as delay in work is not acceptable and those erring officials and contractors will face the music.

To rationalize the water distribution system of Delhi a study was conducted, according to this study a proposal for constructing this UGR was formulated. Proposed UGR of 12.4 ML capacity UGR/BPS was proposed to be constructed at Mayapuri. This UGR will be fed by South Delhi Main of 1500 mm dia emanating from Haiderpur Water Treatment Plant upto Janakpuri District Centre. Also another 700mm dia water line will be laid from the water main that goes upto Kirti Nagar UGR to feed this UGR. 

On commissioning of this Mayapuri UGR/BPS a population of 1.50 lakh will be benefited with equitable water distribution with increased pressure. At present these areas are getting water from Subhash Nagar UGR, online booster Tilaknagar and from Naraina Main.

****

Maurya/

***

*दिल्ली जल बोर्ड*

*एनसीटी, दिल्ली सरकार* 

————– 

*डीजेबी के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा ने मायापुरी में निर्माणाधीन 12.4 एमएल क्षमता के यूजीआर/बीपीएस का स्थलीय निरीक्षण किया*

*- दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष ने मायापुरी में 12.4 एमएल क्षमता के यूजीआर/बीपीएस के निर्माण में देरी के लिए ठेकेदार को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए*

*- परियोजना की कुल लागत लगभग 14 करोड़ रुपये है और 18 महीनों में (जून 2019 तक) पूरा होने की उम्मीद थी, लेकिन 14 महीने से अधिक की देरी हुई*

*- दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा का कहना है कि काम में देरी स्वीकार्य नहीं है, लापरवाही पर कार्रवाई की जाएगी और गलत अधिकारियों और ठेकेदारों खामियाजा भुगतना होगा*

*नई दिल्ली, 11 अगस्त 2020*

दिल्ली जल बोड के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा ने आज सुबह हरि नगर विधानसभा के विधायक राजकुमारी ढिल्लो और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ पश्चिमी दिल्ली स्थित मायापुरी में निर्मित किए जा रहे यूजीआर/बीपीएस परियोजना की प्रगति का जायजा लेने के लिए स्थलीय निरीक्षण किया। इस परियोजना को 18 महीने में पूरा किया जाना था, लेकिन इसे पूरा होने में करीब 14 महीने और लगने की उम्मीद है। मायापुरी क्षेत्र में बढ़ते पेयजल की मांग के मद्देनजर और क्षेत्र वासियों को पर्याप्त स्वच्छ जलापूर्ति सुनिश्चित करने के लिए इस भूमिगत जलाशय का उद्घाटन 2018 में किया गया था। 

इस दौरान डीजेबी के वीसी राघव चड्ढा ने परियोजना के पूरा न होने पर निराशा व्यक्त की और अधिकारियों से परियोजना को पूरा होने में हो रही देरी पर कड़ी नाराजगी जताई है, क्योंकि परियोजना की धीमी रफ्तार से सुभाष नगर, हरि नगर, माया एन्क्लेव, एम ब्लाॅक, खजान बस्ती, ए-ब्लॉक, मायापुरी पीएच-1 और 2 आदि क्षेत्र में रहने वाले निवासी पानी की समस्या से प्रभावित हो रहे हैं। इस परियोजना की अनुमानित लागत करीब 4 करोड़ रुपये है। 

श्री राघव चड्ढा ने परियोजना को पूरा होने में 14 महीने से अधिक समय की देरी होने के लिए ठेकेदार को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा, ‘परियोजना को पूरा होने में देरी करने के लिए संबंधित ठेकेदार को कारण बताओ नोटिस जारी किया जाता है, क्योंकि इस परियोजना को पूरा करने में बरती गई लापरवाही के चलते क्षेत्र के निवासियों को पेजयल की समस्या का सामना करना पड़ रहा है। ठेकेदार 18 महीने के अंदर, जून 2019 तक यूजीआर निर्माण का कार्य पूरा करने के अपने संविदात्मक दायित्व को पूरा करने में विफल रहा है। इस तरह का अव्यवसायिक व्यवहार और लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। परियोजना को तय समय के अंदर पूरा करने में विफल रहने पर संबंधित ठेकेदार से एक समय सीमा में इसे पूरा करने के संबंध में शपथ पत्र भी मांगा गया है। उन्होंने आगे कहा कि यह सभी ठेकेदारों के लिए एक उदाहरण होगा, क्योंकि काम में देरी स्वीकार्य नहीं है और गलत अधिकारियों व ठेकेदारों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। 

दिल्ली के जल वितरण प्रणाली को तर्कसंगत बनाने के लिए एक अध्ययन किया गया था। अध्ययन के अनुसार इस यूजीआर के निर्माण के लिए एक प्रस्ताव तैयार किया गया था। मायापुरी में 12.4 एमएल क्षमता के यूजीआर/बीपीएस के निर्माण का प्रस्ताव तैयार किया गया था। इस यूजीआर को साउथ दिल्ली के मुख्य पाइप लाइन (1500 एमएम) से जोड़ा जाएगा, जो हैदरपुर वाटर ट्रीटमेंट प्लांट से जनकपुरी सेंटर सेंटर तक जाता है। इसके अलावा पानी की मुख्य लाइन से एक और 700 मिमी पानी की लाइन बिछाई जाएगी, जो इस यूजीआर से कीर्ति नगर यूजीआर तक जाती है।

मायापुरी यूजीआर/बीपीएस के चालू होने के बाद क्षेत्र की करीब 1.50 लाख की आबादी को अधिक प्रेशर के साथ स्वस्छ जल आपूर्ति का लाभ मिल सकेगा। वर्तमान में इन क्षेत्रों के निवासियों को सुभाष नगर यूजीआर, ऑनलाइन बूस्टर तिलक नगर और नारायण मेन से पानी मिल रहा है।

****

Maurya/

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s